Hinduphobic : मुस्लिम व्यक्ति कुरान लेकर घुसा दुर्गा पंडाल में फिर जो हुआ.

Hinduphobic : देश विदेश से आए दिन कुछ ना कुछ हिन्दू विरोधी गतिविधि की ख़बरें सामने आती रहती हैं, ऐसी ही एक घटना बांग्लादेश के चटगाँव नामक स्थान से सामने आई है. जहाँ शनिवार यानी 21 अक्टूबर 2023 को एक मुस्लिम व्यक्ति को दुर्गा पंडाल में कुरान के निशान से भरे बैग को लेकर घुसते हुए शाह आलम को पकड़ा।

बांग्लादेश के चटगाँव में हिन्दू श्रद्धालुओं ने शनिवार के दिन (21 अक्टूबर 2023) एक मुस्लिम युवक को दुर्गा पूजा पंडाल में कुरान की निशान से भरे बैग को लेकर घुसते हुए पकड़ा है.

जिसका नाम शाह आलम बताया गया है। शाह आलम को मौके पर पुलिस के हवाले कर दिया गया था। लेकिन पुलिस ने आलम को मानसिक तौर पर बीमार बताते हुए बिना किसी जांच को किए बिना छोड़ दिया।

हालाँकि जब बाद में जब उसे छोड़े जाने की खबर सोशल मीडिया में वायरल हुई तो लोगों ने पुलिस पर दबाव बनाया जिसके बाद पुलिस ने दोबारा से उसे यानी कीशाह आलम को हिरासत में ले लिया।

Hinduphobic : चुपके से घुसा दुर्गा पंडाल में शाह आलम

Hinduphobic : मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक यह घटना चटगाँव के हथजारी इलाके की है। जहाँ के सोमपुरा इलाके में कुछ हिन्दू समुदाय ने मिलकर रक्षाकाली मंदिर में दुर्गा पूजा पांडाल को लगाया था।

जिसके बाद 21 अक्टूबर को इस पांडाल में शाह आलम नाम का एक व्यक्ति शुरूआती रात के लगभग 8 से 9 बजे के बीच में चुपके से बैग लेकर पंडाल में घुस रहा था।

उसके हावभाव को देखकर वहां मोजूद लोगों को कुछ समझ नहीं आया तब जाकर पंडाल में मौजूद लोगों ने आलम को रोका और उसकी तलाशी लेनी शुरू करी,जिसमें कुछ अन्य सामान के साथ कुरान की प्रतियाँ और मज़हबी किताबें बरामद की गई ।

खुद को पागल बता रहगा था आलम

Hinduphobic : श्रद्धालुओं ने शाह आलम को पकड़ कर जब उसका नाम पुछा तो वह कुछ समय तक खामोश रहा। उसने खुद को पागल बताया। जिसके बाद तुरंत ही इस मामले की जानकारी पुलिस को दी गई.

जिसके बाद शाह आलम को हिरासत में ले लिया गया.पूजा उत्सव समिति के सदस्यों का येआरोप है कि पुलिस ने बिना किसी के ही आलम को मानसिक तौर पर कमजोर बता कर छोड़ दिया।

स्थानीय लोगों का ये आरोप है की आलम कुछ गलत मानसिकता को लेकर पंडाल में आया था.

आधिकारिक बयान में क्या आया सामने ?

आधिकारिक बयान में पुलिस स्टेशन के प्रभारी एम डी मोनिरुज्जमान ने शाह आलम को मानसिक रूप से परेशांन बताया है। उन्होंने दावा किया है कि आलम के घर वालों ने उसके मेडिकल प्रमाण भी जमा किए हैं।

यही नहीं पुलिस का कहना है कि शाह आलम होरोशाल से चटगाँव आ कर दरगाहों, मस्जिदों और मंदिरों के आसपास घूम रहा था और घूमते-घूमते वह पंडाल में प्रवेश कर गया.

यह भी पढ़ें- Triple Talaq : शौहर, देवर करते थे मिलकर ये गन्दा काम, विरोध करने पर मुस्लिम महिला हुई 3 तलाक का शिकार..

Leave a Comment