Bihar News: बिहार के बेगूसराय में मूर्ति विसर्जन के दौरान दो समुदायों के बीच हुई हिंसक झड़प,कई लोगों की हुई गिरफ्तारी

Bihar News: बिहार के बेगूसराय से एक हैरान कर देने वाली घटना सामने आई। दुर्गा पूजा के बाद मूर्ति विसर्जन के दौरान बेगूसराय में दो पक्षों के बीच जमकर रोड़ेबाजी हुई। यह घटना बलिया थाना क्षेत्र के बलिया बाजार की है। दुर्गा पूजा के बाद जब मां की प्रतिमा बलिया बाजार के कर्पूरी चौक के पास पहुंची तो समुदायों के बीच बड़ी झड़प हो गई। बता दें कि दो समुदायों के बीच हुए झड़प में रोड़ेबाजी भी हुई। जिससे कई लोग घायल हो गए। ख़बरों की माने तो उस जगह पर एक झंडा लगा हुआ था। इसी झंडे को हटाने के कारण विवाद शुरू हो गया। इस मामले में अब तक दोनों पक्षों से लगभग 10 लोगों की गिरफ्तारी की जा चुकी है।

 

इस घटना को लेकर बेगूसराय जिला पुलिस ने सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म एक्स पर जानकारी देते हुए कहा कि, “बलिया में पुलिस द्वारा हल्का बल प्रयोग के बाद स्थिति अब कट्रोल में है। बलों की प्रतिनियुक्ति कर दी गई है। एरिया डोमिनेशन की जा रही है। उपद्रव करने वाले 10 लोगों को गिरफ्तार कर लिया गया है। मूर्त्ति विसर्जन में शामिल एक व्यक्ति अमित रस्तोगी के द्वारा खंभे में लगे दूसरे समुदाय के झंडे को निकाला गया, जिसके बाद एक पक्ष ने पत्थर चलाया और फिर दूसरे पक्ष ने उपद्रव किया।”

Bihar News: पुलिस ने की स्थिति को कॉन्ट्रोल करने की कोशिश

मिली जानकारी के मुताबिक विसर्जन के दौरान कुछ पुलिसकर्मी भी साथ थे। जब दोनों समुदायों के बीच झड़प हुई तब पुलिस ने लोगों को समझाने का प्रयास किया मगर लोगों पर इसका कोई असर नहीं दिखा। जब मामला ज्यादा गंभीर हो गया तो पुलिसकर्मियों ने थानाध्यक्ष को सूचित किया। यह सूचना बलिया एसडीपीओ सहित जिला मुख्यालय और एसपी तक पहुंच गई। जब तक पुलिस बल मौके पर पहुंचते तब तक स्थिति तनावपूर्ण हो चुकी थी। कई गाड़ियों को में आग लगा दी गई थी।

गिरिराज सिंह ने मुख्यमंत्री नितीश कुमार पर साधा निशाना

इस घटना को लेकर केंद्रीय मंत्री और स्थानीय सांसद गिरिराज सिंह ने मुख्यमंत्री नीतीश कुमार पर सीधा निशाना किया है। मीडिया से बात करते हुए उन्होंने कहा, “बेगूसराय में हाल के दिनों में कई सांप्रदायिक घटनाएं हुई हैं, लेकिन सीएम नीतीश कुमार की तुष्टिकरण और वोटबैंक की राजनीति की वजह से केवल हिंदुओं को गुनेहगार ठहराया जाता है। मुझे इस बात की आशंका है कि फिर से न्याय नहीं मिलेगा और इस घटना का पूरा दोष हिंदुओं पर मढ़ दिया जाएगा।”

यह भी पढ़ें:Hinduphobic : मुस्लिम व्यक्ति कुरान लेकर घुसा दुर्गा पंडाल में फिर जो हुआ.

Leave a Comment