मिलिए उस कार सेवक से जिन्होंने प्रण कर लिया था जबतक अयोध्या में राम मंदिर नही बन जाता,नही करेंगे शादी…

भगवान श्री राम और राम मंदिर के प्रति अटूट प्रेम और भीष्म प्रतिज्ञा की कहानी सामने आई है. आपने ऐसे हजारों भक्त देखे होंगे जो भगवान श्री राम को अपना आदर्श मानते हैं। लेकिन बैतूल में एक बाबा ऐसे हैं जिन्होंने अयोध्या में राम मंदिर बनने तक शादी न करने का संकल्प लिया है.

बाबा का यह संकल्प 22 जनवरी को पूरा होने जा रहा है. बाबा को अयोध्या में होने वाले राम मंदिर के प्राण प्रतिष्ठा कार्यक्रम का भी निमंत्रण मिला है. इससे वह काफी खुश हैं. हालांकि, बालिग होने के बाद अब उन्होंने शादी से तौबा कर ली है।

आपको बता दें कि राम मंदिर बनने तक शादी न करने का संकल्प लेने वाले बाबा फिलहाल बैतूल के मिलानपुर में रहते हैं। इनका नाम है रवींद्र गुप्ता उर्फ भोजपाली बाबा. वह भोपाल के रहने वाले हैं. 1992 में विवादित ढांचा विध्वंस के समय भोजपाली बाबा भी कार सेवक के रूप में अयोध्या गये थे.

भोजपाली बाबा की भगवान राम में इतनी आस्था है कि उन्होंने 21 साल की उम्र में ही प्रतिज्ञा ले ली थी कि जब तक अयोध्या में भगवान राम का मंदिर नहीं बन जाता, तब तक वह शादी नहीं करेंगे.

सम्पूर्ण जीवन सनातन को समर्पित कर दिया

भोजपाली बाबा के परिवार ने उन्हें शादी के लिए मनाने की कई बार कोशिश की, लेकिन बाबा अपने इरादे पर अड़े रहे। आज भोजपाली बाबा 52 साल के हैं और उनका संकल्प 31 साल बाद 22 जनवरी को पूरा होने जा रहा है. भोजपाली बाबा पिछले 31 वर्षों से सनातन धर्म की रक्षा के लिए विभिन्न हिंदू संगठनों में काम कर रहे हैं।

क्या अब भोजपाली बाबा करेंगे शादी?

हालाँकि, अब भोजपाली बाबा ने शादी से इनकार कर दिया है और अपना शेष जीवन सनातन धर्म को समर्पित करने का फैसला किया है। अयोध्या से प्राण प्रतिष्ठा कार्यक्रम का निमंत्रण पाकर बाबा बेहद खुश हैं. अब वे विश्व हिंदू परिषद और बजरंग दल के कार्यकर्ताओं के साथ जिले भर में लोगों को पीले चावल बांटकर राम भक्तों को भगवान राम के नवनिर्मित भव्य मंदिर के प्राण प्रतिष्ठा कार्यक्रम में शामिल होने के लिए आमंत्रित कर रहे हैं. आपको बता दें कि भोजपाली बाबा के अनुयायी भी उनका सानिध्य पाकर खुद को भाग्यशाली मानते हैं.

Leave a Comment