कांग्रेस सचिन पायलट को पार्टी से क्यों नही कर पा रहा बाहर,ये है वजह….

राजस्थान (Rajasthan Politics) की सियासत में रूठना और मनाना चल रहा है! पार्टी से सचिन पायलट (Sachin Pilot) को निकालने की बजाए कांग्रेस पार्टी के बड़े नेता लगातार उनको मनाने की कोशिश कर रहे हैं!

0
517
Why Congress is not able to exclude Sachin Pilot from the party, राजस्थान, Rajasthan Politics, सचिन पायलट, Sachin Pilot, कांग्रेस के नेता, रणदीप सुरजेवाला, अजय माकन , अविनाश पांडे, मुख्यमंत्री अशोक गहलोत, Ashok Gehlot, Rajasthan CM, राहुल गांधी, Rahul Gandhi, ज्योतिरादित्य सिंधिया, Jyotiraditya Scindia, भारतीय जनता पार्टी, BJP

Why Congress is not able to exclude Sachin Pilot from the party: राजस्थान (Rajasthan Politics) की सियासत में रूठना और मनाना चल रहा है! पार्टी से सचिन पायलट (Sachin Pilot) को निकालने की बजाए कांग्रेस पार्टी के बड़े नेता लगातार उनको मनाने की कोशिश कर रहे हैं! सचिन पायलट को मनाने के लिए दिल्ली से कांग्रेस के नेता रणदीप सुरजेवाला, अजय माकन और अविनाश पांडे को भेजा गया है! वहीं दूसरी ओर राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत (Ashok Gehlot, Rajasthan CM) ने सरकार को बचाने के लिए अपने विधायकों को लेकर राजभवन में धरना देने समेत अन्य प्रयास कर रहे हैं!

मनाने की कोशिश

कांग्रेस के नेता रणदीप सुरजेवाला (Randeep Surjewala) अभी तक कई बार सचिन पायलट से अपील कर चुके हैं कि कांग्रेस में उनके लिए दरवाजे अभी भी खुले हुए हैं! लेकिन सचिन पायलट जो अपने फैसले पर अड़े हुए हैं उन्होंने अभी तक कांग्रेस की ओर लौटने का कोई संकेत नहीं दिया! परंतु उन्होंने यह जवाब जरूर दिया है कि कांग्रेस पार्टी केवल अशोक गहलोत की पार्टी नहीं है! उन्होंने यह भी कहा कि कांग्रेस के विधायकों की खरीद-फरोख्त केवल कांग्रेस हाईकमान की इमेज खराब करने के लिए है!

इस वजह से सचिन पायलट को नहीं किया जा रहा बाहर | Why Congress is not able to exclude Sachin Pilot from the party

फिलहाल सूत्रों की मानें तो कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष और वर्तमान सांसद राहुल गांधी (Rahul Gandhi) सचिन पायलट के खिलाफ कोई भी कार्यवाही करने के पक्ष में नहीं है! वहीं सचिन पायलट का भी कहना है कि उनका विरोध कांग्रेस पार्टी से नहीं है बल्कि मुख्यमंत्री से है! कांग्रेस पार्टी का सचिन पायलट के ऊपर कोई कार्यवाही ना करने का यह भी कारण है कि वह अपने पुराने गलतियां दोहराना नहीं चाहती! जैसा कि ज्योतिरादित्य सिंधिया (Jyotiraditya Scindia) के साथ हुआ था उन्होंने भारतीय जनता पार्टी (BJP) शामिल कर ली थी!

सचिन पायलट की मांग

सचिन पायलट की मांग है कि उनको राजस्थान का मुख्यमंत्री बना दिया जाए! लेकिन उनकी मांग पर सवाल तो कांग्रेस आलाकमान के सामने हैं क्योंकि मुख्यमंत्री अशोक गहलोत के साथ 100 से ज्यादा विधायक है तो सचिन पायलट के साथ सिर्फ 22 विधायक है! ऐसे में अशोक गहलोत को नजरअंदाज कैसे करें?