हनी मिशन क्या है और सरकार कैसे करेगी मदद …

0
13583

What is the honey mission and how will the government help: केंद्र सरकार का पूरा ध्यान अब स्थानीय विनिर्माण, स्थानीय उत्पादों और छोटे उद्योगों पर है। इससे भारत का आत्मनिर्भर बनने का सपना पूरा होगा। सरकार खादी के साथ अन्य ग्रामीण उद्योगों के विस्तार पर भी ध्यान केंद्रित कर रही है। सरकार ग्रामीण क्षेत्रों में रोजगार बढ़ाने के लिए बड़े पैमाने पर शहद उत्पादन को प्रोत्साहित कर रही थी।

केंद्रीय सूक्ष्म, लघु और मध्यम उद्यम मंत्रालय ने इसके लिए एक नीति भी तैयार की है। खादी और ग्रामोद्योग आयोग (KVIC) ने दो साल से भी कम समय में देश के किसानों और बेरोजगार युवाओं को एक लाख से अधिक बक्से दिए हैं। आयोग ने यह हनी मिशन ’के तहत ऐसा किया है। यदि आप अपना व्यवसाय शुरू करने की सोच रहे हैं, तो आप हनी हाउस और हनी प्रोसेसिंग प्लांट स्थापित कर सकते हैं।

हनी मिशन क्या है | What is the honey mission

हनी मिशन योजना खादी ग्रामोद्योग विभाग की योजना है। इसके जरिए किसान और जो लोग पैसा कमाना चाहते हैं, वे रोजगार शुरू करके बड़ी कमाई कर सकते हैं। लोग हनी मिशन के तहत मधुमक्खी पालन करके कमा सकते हैं। अब ऐसी तकनीक आ गई है जिसके जरिए मधुमक्खियां शहद निकालते समय नहीं मरती हैं। मोम और पराग भी बनाए जाते हैं। इससे न केवल किसान बल्कि बेरोजगार युवा भी व्यवसाय के रूप में देखे जाते हैं।

सरकार करती है समर्थन |how will the government help

अगर आप इस योजना के तहत शहद प्रसंस्करण संयंत्र लगाना चाहते हैं, तो आपको कमीशन से 65% ऋण मिलता है और खादी ग्रामोद्योग आपको 25% अनुदान भी देता है यानी आपको केवल 10% धनराशि का भुगतान करना होगा।

आपको 16 लाख रुपये का लोन मिलेगा

केवीआईसी के अनुसार, अगर आप सालाना 20 हजार किलोग्राम का शहद बनाने का प्लांट लगाना चाहते हैं, तो इसके लिए लगभग 24.50 लाख रुपये का खर्च आएगा। इसमें से आपको लगभग 16 लाख रुपये का ऋण मिलेगा, जबकि मार्जिन मनी के रूप में आपको 6.15 लाख रुपये मिलेंगे और आपको अपनी ओर से केवल 2.35 लाख रुपये का निवेश करना होगा।