CAB के खिलाफ सड़कों पे उतरे मदरसे का छात्र, सड़क जाम कर वहीं नमाज अदा करने लगा

0
115
up-deoband-minorities-protest-against-citizenship-bill-1
Pic Credit - Google Images
up-deoband-minorities-protest-against-citizenship-bill-2
Pic Credit – Google Images

उत्तर प्रदेश के सहारनपुर-मुजफ्फरनगर में धारा 144 लगा दी गयी हैं, किसी से ने डरने का दावा करने वालों का इस्लाम देश के गृहमंत्री अमित शाह द्वारा लाये गए एक बिल के चलते खतरे में आ गया हैं.

शायद यही कारण है की, देवबंद में मदरसे के छात्र सड़कों पर मोदी और शाह विरोधी नारे लगाते हुए सहारनपुर और मुजफ्फरनगर का मेन हाईवे ब्लॉक कर दिया. पुलिस जब भारी फाॅर्स के साथ इन्हे रोकने गयी तो इन लोगों ने पुलिस पर पथराव किया और गाड़ियों की तोड़-फोड़ की.

बताया जा रहा है की मदरसा छात्र सहारनपुर जिले के सरसटा बाजार स्थित जामा मस्जिद से एक शांतिपूर्वक मार्च निकाल रहे थे. लेकिन खानकाह पुलिस चौकी से होते हुए सहारनपुर-मुजफ्फरनगर हाईवे पर इन लोगों ने जाम लगा दिया.

सबसे पहले मोदी और शाह विरोधी नारे लगाए, बिल की फोटो कॉपियों को आग लगाई, नमाज़ का समय हुआ तो वहीं सड़क पर बैठकर नमाज़ अदा की. नमाज़ अदा करने के बाद भीड़ उग्र हो गयी और जाम किये ट्रैफिक पर पथराव करने लगी.

जिसके बाद पुलिस ने कार्यवाही करते हुए यहां धारा 144 लगाई और पुलिस के बड़े अधिकारी सीधा पूर्व विधायक माविया अली और मदरसों के मौलानाओं के साथ छात्रों को समझाने के लिए पहुँच गए. डीएम आलोक कुमार पांडे और एसएसपी दिनेश कुमार दारुल उलूम के मोहतमिम मुफ्ती अबुल कासिम नोमानी से बात करने पहुंचे तो उन्होंने कहा प्रदर्शनकारियों का मदरसे के साथ कोई सम्बंध नहीं हैं.

up-deoband-minorities-protest-against-citizenship-bill-3
Pic Credit – Google Images

इसके बाद पुलिस ने फिर अपनी कार्यवाही करते हुए 20 छात्रों को नामजद कर दिया और 500 अज्ञात लोगों के खिलाफ एफआईआर लिखते हुए. इन प्रदर्शनकारियों के खिलाफ मामला दर्ज़ कर लिया हैं. पुलिस का कहना है की इन लोगों के खिलाफ दंगा भड़काने और दंगे में शामिल होने जैसे मामलों के तहत कार्यवाही की जाएगी.