कांग्रेस शासित राज्य मध्यप्रदेश में चंद्रशेखर आजाद की मूर्ति हटा के, कांग्रेसी नेता की मूर्ति लगा दी

0
179
the-statue-of-the-chandrashekhar-azad-by-congress-leader-1
Pic Credit - Google Images
the-statue-of-the-chandrashekhar-azad-by-congress-leader-2
Pic Credit – Google Images

मध्यप्रदेश इस वक़्त कांग्रेस की सरकार है और 15 साल सत्ता से बाहर रहने के बाद राज्य में दुबारा कांग्रेस कुर्सी तक पहुँचने में कामयाब रही. मध्यप्रदेश की राजधानी भोपाल में पूर्व मुख्यमंत्री और कांग्रेस नेता स्व. अर्जुन सिंह की मूर्ति लगाए जाने पर विवाद खड़ा हो गया है.

विवाद का कारण क्रांतिकारी चंद्रशेखर आजाद की मूर्ति को हटाकर उनकी जगह पूर्व मुख्यमंत्री और कांग्रेस नेता स्व. अर्जुन सिंह की मूर्ति लगाने का है. बताया जा रहा है की जिस स्थान पर कांग्रेस ने पूर्व मुख्यमंत्री और कांग्रेस नेता स्व. अर्जुन सिंह की प्रतिमा को स्थापित किया है वहां पहले क्रांतिकारी चंद्रशेखर आजाद की प्रतिमा मजूद थी.

मध्यप्रदेश में कांग्रेस की सरकार बनते ही कांग्रेस के नेताओं ने ट्रैफिक का हवाला देते हुए यहाँ से क्रांतिकारी चंद्रशेखर आजाद की मूर्ति को हटा दिया था. लेकिन बीजेपी नेताओं का कहना है की अगर क्रांतिकारी चंद्रशेखर आजाद की मूर्ति को हटाने का कारण यहां मजूद ट्रैफिक था तो स्व. अर्जुन सिंह की मूर्ति लगाकर ट्रैफिक कैसे कंट्रोल होगा?

पूर्व मंत्री रहे और नरेला से बीजेपी विधायक विश्वास सारंग ने इसकी शिकायत मुख्यमंत्री कमलनाथ को लिखकर भी की है. पत्र में विश्वास सारंग ने लिखा है की, “हम भोपाल में टीटी नगर चौराहे पर स्वर्गीय चंद्र शेखर आजाद की प्रतिमा के स्थान पर स्वर्गीय अर्जुन सिंह की प्रतिमा लगाने का घोर विरोध करते हैं और आपत्ति दर्ज कराते हैं.”

the-statue-of-the-chandrashekhar-azad-by-congress-leader-3
Pic Credit – Google Images

विश्वास सारंग ने मीडिया से बातचीत करते हुए कहा की, “हमें स्वर्गीय अर्जुन सिंह की प्रतिमा की स्थापना पर कोई आपत्ति नहीं है, किंतु पूर्व से स्थापित क्रांतिकारी स्वर्गीय चंद्रशेखर आज़ाद की प्रतिमा के स्थान पर लगाई गई प्रतिमा का विरोध करते हैं.”

अब देखना यह होगा की मुख्यमंत्री कमलनाथ सिंह इस शिकायत का संज्ञान लेते हुए क्रांतिकारी वीर चंद्र शेखर आज़ाद की प्रतिमा को वापिस लगाने का ऐलान करते है या फिर वह पूर्व मुख्यमंत्री अर्जुन सिंह जी को चंद्र शेखर आज़ाद से ज्यादा बड़ा मानते हैं.