अंबानी-अडानी को पीछे छोड़ रतन टाटा की कंपनी TATA ने रचा इतिहास।

Tata Group market capitalisation: देश की सबसे पुरानी कंपनियों में से टाटा ग्रुप ने एक नया कीर्तिमान हासिल कर लिया है दरअसल यह एक ऐसा पहला कॉरपोरेट ग्रुप बन चुका है जिसका मार्कट केपीटलाइजेशन 30 लाख करोड़ के पास पहुंच गया है वहीं मार्केट वैल्यू के हिसाब से देश का दूसरा बड़ा ग्रुप मुकेश अंबानी के नेतृत्व वाला रिलायंस ग्रुप है.

दरअसल टाटा ग्रुप की 25 कंपनियां भारतीय स्टॉक मार्केट में लिस्टेड है लेकिन टाटा ग्रुप के मार्केट केपीटलाइजेशन में इसकी पांच कंपनियों की ही 80% से ज्यादा की हिस्सेदारी है वहीं देश की सबसे बड़ी आईटी कंपनी TCS ग्रुप की सबसे वैल्युएबल कंपनी है जिसने हाल ही में 15 लाख करोड़ का मार्केट कैप का आंकड़ा पार किया है.

मार्केट कैप में टॉप पर आई TCS ग्रुप

मंगलवार को शेयर मार्केट खुलने के साथ ही TCS शेयर स्टॉक मार्केट में 4% तक उछाल आया है. यह वृद्धि कंपनी द्वारा वैश्विक सहायता और यात्रा बीमा कंपनी यूरोप असिस्टेंस के साथ अपने सौदे की घोषणा के बाद आई। टीसीएस के शेयरों में जोरदार तेजी के चलते इसकी कीमत 4,135.90 रुपये के सर्वकालिक उच्च स्तर पर पहुंच गई थी. इसके साथ ही कंपनी का मार्केट कैप पहली बार 15 लाख करोड़ रुपये के पार पहुंच गया था.

अंबानी अडानी का भी मार्केट कैप में दबदबा

  • 6 फरवरी के ब्लूमबर्ग आंकड़ों के अनुसार तो 30.6 लाख करोड़ रुपये के साथ टाटा ग्रुप एमकैप के मामले में देश का सबसे बड़ा कॉरपोरेट ग्रुप है।
  • दूसरे स्थान पर एशिया के सबसे अमीर आदमी मुकेश अंबानी के नेतृत्व वाला रिलायंस ग्रुप है, जिसकी रिलायंस मार्किट कैप 21.6 लाख करोड़ रुपये है।
  • वही, ब्लूमबर्ग आंकड़ों के अनुसार, तीसरे स्थान पर गौतम अडानी के अडानी ग्रुप का नाम आता है। अडाणी ग्रुप का एमकैप 15.5 लाख करोड़ रुपये है.