सॉफ्टवेयर इंजीनियर नौकरी खोने के बाद सब्जी बेच रही थी,ये देख सोनू सूद ने दिला दी नौकरी…

0
510

बॉलीवुड एक्टर सोनू सूद लोकडाउन के टाइम प्रवासी मजदूरों के लिए मसीहा बनकर सामने आये है। सोनू सूद ने लगभग 20,000 से भी ज्यादा मजदूरों उनके घर पर पहुंचाया है और सभी की तारीफ बटोरी। इतना ही नहीं अभी भी सोनू सूद को लगातार जरुरतमंदो और गरीबो की मदद कर रहे है अभी हाल ही में सोनू सूद ने हिमाचल प्रदेश के परिवार की मदद करने का ऐलान किया था। इतना ही नहीं खेतो में काम कर रही बच्चियों के घर ट्रेक्टर भेजने को लेकर भी रातों-रात सोनू सूद सुर्खियों में आये थे।

अब हाल ही में सोनू सूद ने कुछ ऐसा किया है जिससे एक बार फिर हर कोई उनकी तारीफ कर रहा है। इस बार सोनू सूद ने एक सॉफ्टवेयर इंजीनियरिंग की पढ़ाई पूरी कर चुकी लड़की की मदद की है। हैदराबाद की रहने वाली शारदा की कोरोना की वजह से लगे लोकडाउन में नौकरी चली गई थी। जिस वजह से लगे लोकडाउन में नौकरी चली गई थी जिस वजह से बीटेक करने के बाद भी शारदा को अपना घर चलाने के लिए सब्जी बेचने पड़ रही थी। लेकिन सोनू सूद ने उनकी मदद की और उस लड़की का इंटरव्यू करवाया और अब जॉब लेटर भी शारदा के घर पहुंच चूका है।

शारदा का एक वीडियो ट्विटर पर शेयर किया गया था और इस वीडियो में जानकारी भी दी गई थी कि कोविड-19 वजह से जो लोकडाउन लगा हुआ है उसको लेकर उसकी नौकरी चली गई है। ऐसे में ये सब्जी बेच रही है। एक यूजर ने इस वीडियो में सोनू सूद को टैग करके लिखा, ‘कि डियर सोनू सूद ये शारदा है जिसे कोविड-19 की वजह लगे लोकडाउन की वजह से नौकरी से निकाल दिया गया है। लेकिन हार ना मानते हुए अपने परिवार की मदद कर रही है और सब्जी भी बेच रही है। प्लीज देखे अगर आप इनकी किसी भी तरह से मदद कर सकते है तो। उम्मीद है आप जवाब देंगे।

इस अपील का जवाब देते हुए ये लिखा, ‘कि मेरे अधिकारी उनसे मिले, इंटरव्यू हो चूका है और जॉब लेटर भी भेजा जा चुका है। जय हिंद। सोनू सूद के इस जवाब पर हर कोई उनकी तारीफ कर रहा है और उनको दुआए देते हुए नजर आया। एक ओर बात आपको बता दे कि निम्न मध्यमवर्गीय परिवार से आने वाली शारदा ने बड़ी मुश्किल से तो बीटेक की पढ़ाई पूरी की थी।

फिर जब पहली नौकरी मिली तो उनकी ख़ुशी का ठिकाना नहीं रहा। 3 महीने की ट्रेनिंग चली इसके बाद सीधे प्रोजेक्ट पर काम करना था। इसको लेकर हैदराबाद में कोरोना को लेकर बंदी के दौर भी शुरू हो गए है। एक महीने तो किसी तरह से काम चल गया है लेकिन इसके बाद कम्पनी ने शारदा को सीधा मना ही कर दिया था और बोल दिया था कि प्रोजेक्ट नहीं मिल रहे है इसलिए सैलरी नहीं दे सकते।

शारदा ने भी हार नहीं मानी और अपने परिवार का पालन पोषण करने के लिए सब्जी का ठेला लगा लिया। एक टीवी के चैनल के पत्रकार ने उनका इंटरव्यू भी लिया था और ये वीडियो क्लिप देखते ही देखते सोशल मीडिया पर वायरल हो गई जिसमे एक यूजर ने सोनू सूद को टैग करके सारी जानकारी दे दी।

एक बार फिर से सोनू सूद की इस दरियादिली की लोग प्रशंसा कर रहे है। अभी कुछ टाइम पहले ही सोनू सूद ने किर्गिस्तान में फसे लगभग 2500 भारतीय विद्यार्थियों को भी भारत लाने की मुहीम छेड़ी हुई है।