प्रियंका के घर मे घुसने वाली गाड़ी पे हाय तौबा मचाने वालों की खुली पोल, देखें किसकी थी गाड़ी

0
140
security-laps-of-priyanka-gandhi-vadra-women-security-1
Pic Credit - Google Images
security-laps-of-priyanka-gandhi-vadra-women-security-2
Pic Credit – Google Images

जैसा की हम सब जानते हैं, कांग्रेस नेता गाँधी परिवार को किसी भी तरह से एसपीजी सुरक्षा दिए जाने की मांग करने में लगे हैं. हालाँकि एसपीजी सुरक्षा विदेश जाने, अचानक किसी राजनितिक दौरे पर देश में ही कहीं जाने के दौरान गांधी परिवार इसकी कोई जानकारी मुहैया नहीं करवाता.

एसपीजी सुरक्षा का सबसे अधिक लाभ यह होता है की इस घेरे को पुलिस भी नहीं तोड़ सकती, जिसका मतलब यह है की जमानत पर बाहर घूम रहे इन नेताओं को पुलिस गिरफ्तार भी नहीं कर सकती. यही एक कारण है की कांग्रेस के नेता किसी भी हाल में एसपीजी सुरक्षा को वापिस चाहते हैं.

इसके लिए पहले एक आंदोलन किया, जिसमे कई स्कूल के बच्चे शामिल हुए जब मीडिया ने उन बच्चों से पूछा की आप किस बात के लिए यहां आये हैं तो बच्चों को कुछ भी नहीं पता था. उन्हें बस किसी तरह से रैल्ली में लाया गया था. सोशल मीडिया पर इसका भी खुलकर मजाक बना था.

एक और मामला सामने आया है, जिसमें कहा गया था की प्रियंका वाड्रा के बंगले में एक गाडी घुस आयी थी. उस गाडी में दो पुरुष, तीन महिलाएं और एक बच्चा था जो की प्रियंका वाड्रा के साथ फोटो खिंचवाना चाहते थे. CRPF के जवानों की सिक्योरिटी पर सवाल खड़े करते हुए एक बाद फिर एसपीजी सुरक्षा पर बहस तेज़ हो गयी थी.

लेकिन अब पता चला है की वो गाडी किसी और की नहीं बल्कि कांग्रेस के ही एक समर्थक की थी. सिक्योरिटी ब्रीच का नाटक अपनी एसपीजी सुरक्षा को वापिस हासिल करने के लिए किया गया था. आपको बता दें की इस सिक्योरिटी ब्रीच पर खुद रोबर्ट वाड्रा ने भी ट्वीट किया था और कहा था की, “यह हमारे नागरिकों को विशेष रूप से हमारे देश की महिलाओं को सुरक्षित रखने और सुरक्षित महसूस कराने के बारे में है. पूरे देश में सुरक्षा के साथ समझौता हो रहा है, लड़कियों पर अत्याचार हो रहा है, उनका रेप हो रहा है, हम किस प्रकार का समाज बना रहे हैं? प्रत्येक नागरिक की सुरक्षा की जिम्मेदारी सरकार की है. अगर हम अपने देश में सुरक्षित नहीं है, अपने घर पर, सड़क पर, दिन में, रात में तो हम कहां और कब सुरक्षित होंगे?”

इसके साथ ही जब मीडिया ने रोबर्ट वाड्रा से पूछा था की क्या वह लोग कांग्रेस पार्टी के थे तो उन्होंने साफ़ इंकार करते हुये कहा था की, “वे पार्टी के लोग नहीं थे, यह गंभीर मामला है, सुरक्षा नियमों के पालन में पूरी तरह कोताही की गई.”

इस मामले के पूरी तरह से खुलासा होने के बाद, कांग्रेस नेता और रोबर्ट वाड्रा खुद मीडिया से मुंह छुपाते हुए नज़र आये. इसपर सबसे पहली प्रतिक्रिया बीजेपी के दिल्ली स्पोकसपर्सन तेजिंदरपाल सिंह बग्गा ने ट्विटर पर दी हैं…