SBI ने कर दी अपने ग्राहकों की मौज, उठाया ये बड़ा कदम…

SBI NRE OR NRO facility started: स्टेट बैंक ऑफ़ इंडिया के ग्राहकों के लिए बहुत बड़ी खबर सामने आ रही है. दरअसल एसबीआई बैंक में खबरें सामने आ रही है कि अब विदेश में रहने वाले भारतीय यानी कि एनआरआई लोग भी सेविंग अकाउंट से एसबीआई में खाता खुलवा सकते हैं यहां बता दे की विदेश में रहने वाले लोग NRO खाते के लिए लंबे समय से एसबीआई के पास अपील कर रहे थे. अब जाकर इस खाते को मंजूरी मिल चुकी है वहीं काफी लंबे समय के बाद एसबीआई ने विदेश में रहने वाले सभी भारतीयों की मांग को पूरा किया है तो जानते हैं कि विदेश में रहने वाले लोगों के लिए खाता खुलवाने की क्या प्रक्रिया है?

डिजिटल सेवा हुई शुरू

स्टेट बैंक ऑफ़ इंडिया ने अपने कस्टमर के लिए एक बेहतरीन डिजिटल सेवा की शुरुआत कर दी है जिसके चलते विदेश में रहने वाले लोगों के लिए भी खाता खुलवाना संभव हो गया है जैसा कि हम लोग जानते ही हैं कि एसबीआई देश का सबसे बड़ा बैंक माना जाता है जो योनो एप की मदद से अपनी योजनाओं को डिजिटल लोगों तक पहुंचाता है. वही एसबीआई ने साफ कह दिया है कि अब नए ग्राहकों को खाता खुलवाने के लिए बहादुर करने की आवश्यकता नहीं है इस योजना की शुरुआत एसबीआई के द्वारा मुख्य रूप से नए ग्राहकों के लिए ही की गई है जिनका खाता खुलवाना आसान हो गया है काफी लंबे समय से बार-बार एनआरआई लोग मांग कर रहे थे और जिसको देखते हुए एसबीआई ने इस फैसला को मंजूरी दी है.

क्या है NRE और NRO?

गैर आवासीय भारी यानी नॉन रेजिडेंट्स एक्सटर्नल लोगों के लिए मुख्य रूप से इस योजना की शुरुआत की गई है जिसके चलते अब एनआरआई लोग भी विदेश की कमाई को भारत में बचत करने के लिए एसबीआई के अंदर अपना खाता खुलवा सकते हैं इसी के साथ भारत ने एक वोट साधारण खाता भी इस स्कीम में जोड़ा है जिसका अर्थ होता है नॉन रेजिडेंट ऑर्डिनरी। इस खाते का लोग भी एनआरआई लोगों के लिए ही किया गया है जिससे वह लोग अपने लेनदेन कर सकते हैं जैसे की किराया, ब्याज, पेंशन इत्यादि। अब भारत में ही विदेश में रहने वाले लोगों के लिए वन स्टॉप सॉल्यूशन की सुविधा उपलब्ध करा दी गई है यहां आपको बता दे की एसबीआई की ओर से बयान भी जारी किया और बताया गया कि डिजिटलीकृत खाता खुलवाने के लिए कदम उठाया गया है जिससे कि ग्राहकों को आसानी से और जल्दी खाता खुलवाने में मदद मिलेगी।