दूरदर्शन पर न दिखाया जाए मंदिर के भूमि पूजन का लाइव टेलीकास्ट,वामपंथी नेता ने उठाया ये कदम…

0
413

केरल से राज्यसभा सांसद और सीपीआई नेता बिनॉय विश्वम ने केंद्रीय सूचना और प्रसारण मंत्री प्रकाश जावड़ेकर को एक पत्र लिखा है, जिसमें उनसे 5 अगस्त को अयोध्या में प्रस्तावित धार्मिक कार्यक्रम का प्रसारण नहीं करने का अनुरोध किया गया है। इस पत्र में उन्होंने लिखा है कि इसका प्रसारण कार्यक्रम देश की संप्रभुता के स्वीकृत मानदंडों के खिलाफ है, धर्मनिरपेक्ष लोकतंत्र में, एक धर्म के प्रति सरकार का झुकाव उचित नहीं है, सरकार को सभी धर्मों के लोगों की भावनाओं का ध्यान रखना चाहिए।  जहां यह धार्मिक कार्यक्रम हो रहा है, यह सरकार की जिम्मेदारी है कि वह परिपक्व निर्णय ले और न कि देश की धर्मनिरपेक्ष छवि से समझौता करे, जो इसका राजनीतिकरण करते हैं।

आपको बता दें कि अयोध्या में राम मंदिर के भूमिपूजन की तारीख 5 अगस्त तय की गई है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी राम मंदिर भूमि पूजन करेंगे। राम मंदिर के भूमिपूजन का मुहूर्त 12: 15 :15 सेकंड, 12: 15 :47 सेकंड से है। यानी प्रधानमंत्री 32 सेकेंड में भूमि पूजन करेंगे। 5 नक्षत्रों को दर्शाने वाली पांच चांदी की चट्टानों को पीएम के हाथों एक आधारशिला के रूप में रखा जाएगा। रामलला के प्रमुख आचार्य सत्येंद्रदास के अनुसार, प्रधानमंत्री मोदी 32 सेकंड में नंदा, जया, भद्रा, रिक्ता और पूर्णा के रूप में 5 चट्टानों की पूजा करेंगे और मंदिर की नींव में स्थापित होंगे। ये चट्टानें चांदी की होंगी और इन्हें ट्रस्ट के अध्यक्ष महंत नृत्य गोपाल दास ने तैयार किया है।

पीएम मोदी के अयोध्या कार्यक्रम का पूरा विवरण भी जारी किया गया है। पीएम मोदी 5 अगस्त को सुबह 11.30 बजे अयोध्या पहुंचेंगे, इसके बाद पहली बार पीएम मोदी रामजन्मभूमि के लिए रवाना होंगे। पीएम मोदी का हेलीकॉप्टर सुबह 11.30 बजे साकेत विश्वविद्यालय में उतरेगा। इसके बाद पीएम मोदी का काफिला राम जन्मभूमि के लिए रवाना होगा। बताया जा रहा है कि भूमि पूजन कार्यक्रम केवल दो घंटे का होगा। इस दौरान पीएम मोदी केवल दो जगहों पर हनुमानगढ़ी और राम जन्मभूमि जाएंगे। हालांकि, यह तय नहीं है कि पीएम मोदी पहले कहां जाएंगे।