Tuesday, September 27, 2022

नवरात्री के अवसर पर मुर्गा पर प्रस्थान करने वाली हैं ‘मां दुर्गा’, जानिए क्या है इसके संकेत

आने वाले सोमवार यानि 26 सितंबर से माँ दुर्गा का पर्व नवरात्री शुरू होने वाला है. माना जा रहा है कि इस बार मां दुर्गा का आगमन हाथी की सवारी पर हो रही है. जब मां दुर्गा के आगमन हाथी की सवारी पर होती है तो इसे शुभ माना जाता है. वहीं, इस बार मां दुर्गा का प्रस्थान चणायुध अर्थात मुर्गा पर होगा. जब मां दुर्गा का प्रस्थान मुर्गा पर होता है तो इसे अशुभ माना गया है. इस बार नवरात्रि की शुरुआत शुभ माना जा रहा है तो वहीं, नवरात्रि की समाप्ति अशुभ का संकेत दे रहा है. मां दुर्गा के आगमन व प्रस्थान से ही आगामी वर्ष में आम जनता और राजनीति में होने वाली उथल-पुथल देश में घटित होने वाली घटनाओं का फलादेश निकाला जा सकता हैं.

माँ दुर्गा का आगमन शुभ, प्रस्थान अशुभ

डॉ श्रीपति त्रिपाठी ने कहना है कि इस बार शारदीय नवरात्र कलश स्थापना अश्विन शुक्ल पक्ष प्रतिपदा सोमवार को होने के कारण शास्त्रों में मां दुर्गा का आगमन ‘गज’ पर हो रहा है, जिसका फल शुभ होता है. विजय दशमी इस बार 5 अक्टूबर को हैं. और इसी के चलते मां दुर्गा मुर्गा पर सवार होकर लौटेंगी. जिसका फल अशुभ माना जाता हैं. मां दुर्गा अपने पूरे परिवार के साथ हाथी पर सवार होकर आ रही है, जो अच्छी बारिश का संकेत है. इससे किसानों में खुशहाली आएगी और इसके साथ ही देश में भी समृद्धि बढ़ेगी. वही प्रस्थान जन मानस में विकलता का संकेत है.

‘दिन’ से जुड़ा है दुर्गा माँ का आगमन और प्रस्थान

शारदीय नवरात्र से आगामी वर्ष प्रजा व शासक वर्ग के लिए कैसा होगा. इसका फलादेश निकाला जाता है. नवरात्र में मां दुर्गा का आगमन और प्रस्थान ‘वार'(दिन) से जुड़ी हुई है. आगमन यानि घट स्थापना यदि रविवार या सोमवार को नवरात्र प्रारंभ होती हैं तो मां दुर्गा हाथी पर, शनिवार या मंगलवार को घोड़े पर, गुरुवार या शुक्रवार को डोला पर और बुधवार को प्रारंभ होने पर मां दुर्गा नौका पर सवार होकर आती हैं.

अगर मां दुर्गा के आगमन गज यानी की हाथी पर होता है तो पानी की बढ़ोतरी, घोड़ा पर आना, युद्ध की आशंका, नौका पर आने से मनोकामनाएं पूर्ण होती हैं. डोली पर आने से आक्रांत रोग, मृत्यु का भय बना रहता हैं. वहीं, प्रस्थान रविवार व सोमवार को विजयादशमी होती हैं तो मां दुर्गा भैंसा पर, शनिवार व मंगलवार को मुर्गा पर, बुधवार व शुक्रवार को गज पर और गुरुवार को नर वाहन पर प्रस्थान करती हैं.

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular