हमास के हमले को आतंकी कृत्य बताने पर Shashi Tharoor पर भड़के मुस्लिम संघठन,फिलिस्तीन समर्थन से जुड़े कार्यक्रम से किया बाहर

Shashi Tharoor: इजराइल और हमास के बीच चल रहे युद्ध में दुनियां के तमाम देश दो हिस्सों में बट गए है। इजराइल पर हुए आतंकी हमले के बाद इजराइल और फिलिस्तीन के बीच बड़ा जंग छिड़ गया है। कुछ लोग फिलिस्तीन के समर्थन में है तो कुछ देश इजराइल के साथ खड़े हैं। वहीं भारत में भी इजराइल और हमास के बीच चल रहे युद्ध का असर साफ़ दिखाई देंरहा है। भारत के प्रधानमंत्री ने खुले तोर पर इजराइल का समर्थन किया है। वहीं कुछ लोग ऐसे भी है जो फिलिस्तीन के समर्थन में है। भारत में गाजा पर हो रहे हमले के खिलाफ कई संघटनों की ओर से कई जगहों पर प्रदर्शन किया। इस मुद्दे पर जमकर सियासी बयानबाजी भी हो रही है।

भारत में कई मुस्लिम संगठनों और सियासी पार्टियों के द्वारा लगातार फिलिस्तीन के समर्थन में बयानबाजी हो रही है। केई जगहों पर कार्यकर्म भी किए जा रहे है। इस सब के बीच कांग्रेस सांसद और पूर्व केंद्रीय मंत्री शशि थरूर (Shashi Tharoor) के एक बयान से मुस्लिम संगठन भड़क गए हैं। आपको बता दें कि हाल ही में शशि थरूर ने हमास द्वारा इजरायल पर किए गए हमले को आतंकी कृत्य बताया। शशि थरूर के इस बयान से मुस्लिम संगठन भड़के नजर आ रहे हैं। उनके इस बयान से भड़के एक मुस्लिम संगठन ने फिलिस्तीन के समर्थन से जुड़े एक कार्यक्रम में उन्हें शामिल होने का दिया गया न्योता वापस ले लिया है।

 कार्यक्रम से बाहर किये गए शशि थरूर

बता दें कि केरल में मुस्लिम हितों के लिए काम करने वाले संगठन महल एम्पावरमेंट मिशन’ फिलिस्तीन से जुड़े मुद्दे को लेकर एक कार्यक्रम करने जा रहा है। यह कार्यक्रम 30 अक्टूबर को होने जा रहा है। इस कार्यक्रम में कांग्रेस नेता शशि थरूर को भी आमंत्रित किया गया था। लेकिन उनके हालिया बयान से नाराज संगठन ने उन्हें इस कार्यक्रम से बाहर करने का फैसला लिया है।

Shashi Tharoor ने क्या कहा था

बता दें कि पिछले दिनों केरल में कांग्रेस की अगुवाई वाली यूडीएफ गठबंधन में शामिल इंडियन यूनियन मुस्लिम लीग (आयूएमएल) ने गाजा पर इजरायली हमले को लेकर कोझिकोड में एक कार्यक्रम आयोजित किया गया था। जिसमें शशि थरूर को मुख्य अतिथि के रूप में बुलाया गया था। उन्होंने रैली को संबोधित करते हुए कहा था कि निर्दोष महिलाओं और बच्चों को शुरूआत में इजरायल और बाद में गाजा में हताहत होना पड़ा। यहीं पर उन्होंने 7 अक्टूबर को इजराइल पर हमास के द्वारा किए गए हमले की निंदा की। उन्होंने हमास के द्वारा इजराइल पर किए हमले को आतंकवादी कृत्य करार दिया। उनके इस बयान ने उन्हें बड़ी परेशानी में डाल दी।

यह भी पढ़ें:इंटरव्यू में पूर्व क्रिकेटर Danish Kaneria ने खोले पाकिस्तान के पोल, कहा,”नमाज पढ़ने के लिए आते थे कॉल”

 

Leave a Comment