LIC ने कर दिया कारनामा, देश के सबसे बड़े बैंक SBI को भी छोड़ा पीछे….

बाजार में भारी गिरावट के बीच बुधवार को एलआईसी के शेयरों में तेजी देखने को मिल रही है। शुरुआती कारोबार में यह करीब 2 फीसदी के उछाल के साथ 919.45 रुपये पर कारोबार करता देखा गया. यह एलआईसी शेयरों का ताजा 52 हफ्ते का उच्चतम स्तर है। शेयर में हालिया तेजी के चलते एलआईसी का बाजार पूंजीकरण 5.8 लाख करोड़ रुपये के पार पहुंच गया है.

इस तरह एलआईसी का मार्केट कैप एसबीआई के मार्केट कैप से भी ज्यादा हो गया है. सोमवार को शुरुआती कारोबार में एसबीआई के शेयर 1.18 फीसदी या 7.50 रुपये की गिरावट के साथ कारोबार करते देखे गए. इससे देश के इस सबसे बड़े सरकारी बैंक का मार्केट कैप घटकर 5.61 लाख करोड़ रुपये हो गया है.

नवंबर की शुरुआत से ही एलआईसी के शेयरों में तेजी देखी जा रही है। तब से स्टॉक 50 प्रतिशत से अधिक बढ़ गया है। लिस्टिंग के बाद मार्च 2023 तक LIC के शेयरों में बड़ी गिरावट आई. यह 530 रुपये के ऑल टाइम लो पर पहुंच गया था. इसके बाद इस स्टॉक में रिकवरी देखी गई.

नवंबर महीने में एलआईसी के शेयरों में 12.83 फीसदी की बढ़ोतरी दर्ज की गई. दिसंबर में एलआईसी के शेयर 22.66 फीसदी बढ़े. जनवरी में अब तक स्टॉक 10 प्रतिशत से अधिक बढ़ चुका है।

फिलहाल LIC का शेयर अपने IPO प्राइस से महज 4 फीसदी दूर है. एलआईसी ने वित्त वर्ष 2024 की पहली छमाही में 17,469 करोड़ रुपये का शुद्ध लाभ दर्ज किया है। एक साल पहले इसी अवधि में कंपनी का शुद्ध लाभ 16,635 करोड़ रुपये था। पहली छमाही में कंपनी का नया बिजनेस प्रीमियम (व्यक्तिगत) 2.65 फीसदी बढ़कर 25,184 करोड़ रुपये हो गया.