Thursday, December 8, 2022

Lakshmi Aggrawal जितनी साहसी है उतनी ही मासूम भी है

Lakshmi Aggrawal एक एसिड सर्वाइवल है। जिन्होंने देश में फैले उस डर का समना किया और उसके खिलाफ खड़ी भी हुई। लक्ष्मी अग्रवाल ज़िंदगी बेहद ही कठिन थी। फिर भी उन परस्तिथि में भी वो निडर और साहस से आगे बढ़ती रही।

फिल्म छप्पाक में Lakshmi Aggrawal का दर्द

Lakshmi Aggrawal की कहानी पर आधारित फिल्म छप्पाक भी साल 2020 में आई थी। जिसमे लक्ष्मी के साथ हुए एसिड अटैक की पूरी कहानी दर्शाई गई है। फिल्म छप्पाक में 1 जुलाई 1990, को जन्मी Lakshmi Aggrawal दिल्ली में एक मिडिल क्लास से ताल्लुक रखती है। लक्ष्मी को बचपन से ही गाने का शौक था। वो बड़े हो कर सिंगर बनाना। था। लेकिन उनकी किस्मत ही मंज़ूर था। जब वो बस 15 साल की थी तब उनकी ज़िन्दगी बदल सी गई।

32 उम्र का सिरफिरा नईम खान

उनके साथ एक भयानक हादसा हुआ जिसको सुन कर ही रूह काँप जाती है। महज 15 साल की उम्र में एक 32 वर्षीय आदमी ने लक्ष्मी को ज़िंदगी भर का दर्द दे दिया। 32 वर्षीय सिरफिरा आशिक बन गया नईम खान जो की 15 साल की लक्ष्मी के साथ शहदी करना चाहता था। और जब लक्ष्मी में शादी से इंकार किया तो उसने इससे उसकी बेज़ती बता कर गुस्से में लक्ष्मी पर एसि ड फेक दिया। जिसके बाद लक्ष्मी की ज़िन्दगी पूरी तरह से बदल गई।

Read more: डोनाल्ड ट्रंप की बायोपिक बनाएंगे Sanjay Dutt? खुद कही ये बात..

बाद में उन्होंने बाकि के एसिड सर्वाइवल के साथ मिल कर एसिड अटैक से पीड़ितो के लिए न्याय की मांग के लिए अभियान चलाया। और साथ ही उनके पुनवार्स की भी मांग की। लक्ष्मी के इस अभियान से देश में बिक रहा खुले आम एसिड की भी बिक्री रुकी। और इस पर सरकार के द्वारा इस पर रोक लगा दी गई। इस अभियान के दौरान उनको बाकि लोगो का भी खूब साथ मिला। लेकिन वहा उनका साथ एक व्यक्ति ने दिया जो की उनका सहारा भी बना।

आलोक थे बैकबोन- Lakshmi Aggrawal

लक्ष्मी मुलाकात आलोक दीक्षित से हुई। जिनके साथ वे बेहद ही कम्फर्टेबले थी। आलोक ने लक्ष्मी का बहूत साथ दिया। इस अभियान में वो उनके साथ ही रहे। जिसके चलते उनकी नज़दिया भी बढ़ गई। और दोनों एक दूसरे के प्रेम में पड़ गए। बाद में दोनों एक साथ लिवइन में भी रहने लगे। हलाकि दोनों की शादी नहीं हुई। और दोनों म्यूच्यूअली अलग हो गए।

लक्ष्मी बताती है आलोक ने उनका बेहद साथ दिया है। वो उनके साथ हमेशा खड़े रहे। उनका भरपूर साथ दिया। वो उनके बहुत अचे दोस्त है। वो उनसे बात करती है।

बेटी पीहू भी है

आलोक ने भी लक्ष्मी के बारे में बताते हुए बोला की लक्ष्मी बेहद ही साहसी और हिम्मत वाली लड़की है। उनकी हिम्मत और मासूमियत ने उनको आकर्षण किया। लक्ष्मी क बेटी की माँ भी बनी है जिसका नाम उन्होंने पीहू रखा है।
लक्ष्मी को काफी पुरुस्कार भी मिले है उनके इस साहसी काम को देख कर।

RELATED ARTICLES

Most Popular