Tuesday, September 27, 2022

जानिए कौन हैं Mark Zuckerberg को घुटने पर लाने वाली Frances Haugen !

जैसा कि आपको पता है कि हाल ही में फेसबुक (Facebook) कंपनी के सीईओ मार्क जुकरबर्ग (Mark Zuckerberg) ने अपनी कंपनी का नाम बदलकर मेटा (Meta) कर दिया है। लेकिन क्या आपको पता है कि नाम बदलने के पीछे का क्या कारण था। आखिर क्यों मार्क जुकरबर्ग ने अपनी कंपनी का नाम बदलना उचित समझा। फ्रांसेस हौगेन (Frances Haugen) को इससे क्यों जोड़ कर देखा जा रहा है। इस खबर के माध्यम से हम आपको बताएंगे कि आखिर फेसबुक कंपनी के सीईओ मार्क जुकरबर्ग ने अपनी कंपनी का नाम क्यों बदला। आइए आपको पूरी खबर विस्तार से बताते हैं।

इस वजह से फेसबुक ने बदला नाम

कुछ लोग यह भी कह रहे हैं कि फेसबुक कंपनी के सीईओ मार्क जुकरबर्ग ने कंपनी का नाम इसलिए बदला है। क्योंकि फेसबुक (Facebook) की बहुत ज्यादा बद नामी हो गई थी। फेसबुक कंपनी को लेकर तरह-तरह की बातें की जाने लगी थी। कई लोग फेसबुक को मात्र मनोरंजन के रूप में देखने लगे थे। वहीं दूसरी तरफ कुछ लोग फेसबुक द्वारा नाम बदले जाने का कारण यह भी बताते हैं कि फेसबुक पर ज्यादातर लोग धर्म से जुड़े वीडियो अपलोड करते हैं। उसी वजह से फेसबुक ने अपना नाम बदला है।

कौन है फ्रांसेस हौगेन (Frances Haugen)

फेसबुक की एक पूर्व कर्मचारी का नाम फ्रांसेस हौगेन (Frances Haugen) है। फ्रांसेस हौगेन (Frances Haugen) ने फेसबुक कंपनी से जुड़ी कई बातें बताई है। उन्होंने अमेरिका में वहां के सांसदों के बीच कई पेपर जारी कर फेसबुक के बारे में जानकारी दी है। उनके पर्स का नाम फेसबुक पेपर है। फेसबुक पेपर्स के माध्यम से 37 साल की फ्रांसेस हौगेन (Frances Haugen) ने अमेरिकी संसद की कमेटी में फेसबुक के बारे में जानकारी दी है। कई तरह की जानकारी मिलने के बाद अब फेसबुक की मु श्किलें बढ़ती दिखाई दे रही है।

Also Read:- Facebook बदलने जा रहा अपना नाम ! जानिये क्या है पूरा मामला…

फ्रांसेस हौगेन ने दी जानकारी

फेसबुक कंपनी की प्रोडक्ट मैनेजर रही फ्रांसेस हौगेन ने जानकारी देते हुए कहा कि फेसबुक की वजह से कई बच्चे पढ़ाई लिखाई नहीं करते हैं। समाज के लोग फेसबुक की वजह से दो भाग में होते जा रहे हैं। उन्होंने कहा कि कंपनी का एडवरटाइजिंग बेस्ड बिजनस मॉडल ज्यादा से ज्यादा लोगों को प्लेटफॉर्म से जुड़े रहने पर जोर देता है। फेसबुक कंपनी इमोशंस के साथ लोगों को जोड़ने का काम करती है। कई लोग फेसबुक को लेकर इस तरह की बातें करते हैं कि जो फेसबुक की वजह से ही अपना काम नहीं कर पाते इसमें बहुत अधिक सच्चाई है।

RELATED ARTICLES

Most Popular