अगर आप भारी नुकसान से बचना चाहते है ,तो बैंकों के 1 जुलाई से बदल गए नियमो को जान लें..

0
548

कोरोना वायरस की महामारी की वजह से अपने ग्राहकों को बैंको ने उन्हें राहत प्रधान करने के लिए काफी सारे नियमो में बदलाव किया था, और अब ये नियम 1 जुलाई से वापस बदले जा रहे है, और अब ग्राहकों को ये भी जान लें चाहिए कि किन- किन नियमो में बदलाव हो रहा है, क्योकि इस बारे में दयँ नहीं दिया गया तो नुकसान उठाना पड़ सकता है। इसलिए अब एटीएम से केश निकलना, मिनिमम बैलेंस जैसी काफी सारी सुविधाओं में बदलाव होने जा रहे है।

कोरोना वायरस की महामारी के चलते वित्त मंत्रालय ने नागरिको को राहत देते हुए एटीएम में केश निकलने पर जो चार्ज लगा था तरह तरह के वो अब नहीं है वो अब हटा दिए गए है। ये छूट 3 महीनों के लिए 1 अप्रैल से 30 जून तक के लिए दी गई थी। अब 1 जुलाई से एटीएम में केश निकने पर ये छूट मिलेगी नहीं और पहले की तरह चार्ज के नियम भी लागू होंगे।

सरकार ने कोरोना वायरस के संकट के टाइम सभी बेंको के सेविंग्स खातों में औसत न्यूनतम बैलेंस रखने के नियम को हटा दिया था, और ये सारी छूट तीन महीनो के लिए ही दी गई थी। जो अब 30 जून को ख़तम हो चुकी है 1 जुलाई से यदि आप लोगो के सेविंग्स अकाउंट में बेंको के नियम के नियमो के हिसाब से मिनिमम बैलेंस नहीं रहा तो आपसे जुर्माना लिया जायगा। इसलिए ग्राहकों को पहले ही अपने खातों से बैलेंस चेक करके सही मात्रा में रकम रख लेनी चाहिए।

पीएनबी ने भी 1 जुलाई से बैंक के सेविंग्स अकाउंट पर मिलने वाली ब्याज दर में 0.50 प्रतिशत की कटौती कर दी है। अब इस बैंक में बचत खाते पर ज्यादा से ज्यादा 3.25 प्रतिशत ब्याज मिलेगा। 50 लाख रूपये तक के बैलेंस वाले बचत कहते पर 3 प्रतिशत और 50 लाख से ज्यादा के बैलेंस वाले बचत खाते पर 3.25 प्रतिशत की दर से ब्याज मिलेगा। और एसबीआई और कोटक महिंद्रा बैंक भी बचत खातों पर ब्याज की दरों में भी कटौती कर दी है।