बिहार स्टेट टॉपर बना हिमांशु राज, पिताजी ने सब्जी बेचकर पढ़ाया,हर दिन इतने घण्टे करता था पढ़ाई…

0
14178
Bihar board result, Bihar board topper, Bihar board topper list, Himanshu Raj, Rohtash Himanshu Raj, who is Himanshu Raj, son of vegetable seller Bihar topper, Rohtas district topper,बिहार बोर्ड रिजल्ट, बिहार बोर्ड टॉपर, बिहार बोर्ड टॉपर लिस्ट, हिमांशु राज, रोहताश हिमांशु राज, कौन है हिमांशु राज, सब्जी बेचने वाले का बेटा बिहार टॉपर, रोहतास जिला टॉपर,Hindi News, News in Hindi, bihar board result declared,bihar board result 2020,bihar board result 2020 declared,bihar board 10th result,bihar board 10th result 2020,bseb,bseb 10th result 2020,bseb 10th result,bseb matric result 2020,bihar board matric result 2020,bihar board 10th result 2020 official website,bihar board 10th result 2020 live update,biharbordonline.bihar.gov.in 2020 result,biharbordonline.bihar.gov.in,biharbordonline.bihar.gov.in 2020 result matric,sarkari result,sarkari 10th result 2020

Himanshu Raj becomes Bihar State Topper in BSEB : BSEB (बिहार स्कूल एग्जामिनेशन बोर्ड) ने आज बिहार मैट्रिक रिजल्ट 2020 घोषित कर दिया है! जो छात्र बिहार बोर्ड कक्षा 10 परीक्षा के लिए उपस्थित थे, उन्हें ध्यान देना चाहिए कि परिणाम आधिकारिक वेबसाइट पर जारी किए गए हैं! उम्मीदवारों को ध्यान देना चाहिए कि बिहार बोर्ड कक्षा 10 के परीक्षा परिणाम केवल आधिकारिक साइट पर जारी किए गए हैं, न कि किसी भी स्कूल के नोटिस बोर्ड पर!

बिहार बोर्ड 10th रिजल्ट 2020: बिहार बोर्ड ने जारी किया मैट्रिक का रिजल्ट,चेक करें अपना परिणाम..

Himanshu Raj becomes Bihar State Topper in BSEB-

ऐसे में जब रिजल्ट आई गया है तो कोई ना कोई टॉपर भी रहा होगा! तो बता दे कि रोहतास जिले के हिमांशु राज बिहार टॉपर बने हैं! हिमांशु को बोर्ड की परीक्षा में 481 अंक मिले हैं! रोहतास जिले के जनता हाई स्कूल तेनुअज के हिमांशु विद्यार्थी है! हिमांशु राज रोहतास जिले के दिनारा प्रखंड के तेनुअज पंचायत के नटवार कला गांव वार्ड नं 10 के रहने वाले हैं! उनके पिता का नाम सुभाष सिंह है जो कि सब्जी बेच कर अपने परिवार का पालन पोषण करते हैं! उनकी माता का नाम मंजू देवी है जो की हाउसवाइफ है!

हिमांशु राज के पिता सुभाष सिंह बिक्रमगंज के तटवार बाजार में सब्जी बेचने का काम करते हैं! हिमांशु ने बताया है कि बोर्ड की परीक्षा के लिए उन्होंने विशेष मेहनत की थी वह दिन में करीब 14 घंटो तक पढ़ाई करते थे! हिमांशु ने बताया कि उनकी इच्छा ऊंची उड़ान भरने की है! लेकिन परिवार की आर्थिक परेशानी को देखते हुए उसने सॉफ्टवेयर इंजीनियर बनने की बात कही!

हिमांशु के बाद समस्तीपुर के दुर्गेश कुमार मात्र एक नंबर कम लाकर राज्य में दूसरे स्थान पर रहे! वह एसके हाई स्कूल जितवारपुर के छात्र हैं! आपकी जानकारी के लिए बता दें कि इस बार कुल 80.59% विद्यार्थी पास हुए हैं!