कांग्रेस नेता उदित राज के बिगड़े बोल, हिंदू परंपरा कुंभ की तुलना की मदरसा से

0
313
उदित राज, कांग्रेस, कुंभ मेला, मदरसा, कांग्रेस, Uditraj, Kumbh mela, Madarsa, Congress, UP government

Congress leader Udit Raj compared Kumbh to madrasa: कांग्रेस नेता उदित राज हमेशा अपने बयानों के लिए सुर्खियों में बने रहते हैं इस बार फिर से उन्होंने कुंभ मेले के आयोजन में सरकारी फंड का इस्तेमाल को लेकर सवाल उठाया! इतना ही नहीं बल्कि उदित राज ने मदरसा और उनकी तुलना करते हुए गुरुवार को कहा कि असम की सरकार ने सरकारी फंड से मदद से नेट चलाने का निर्णय किया है उसी तरीके से उत्तर प्रदेश सरकार को कुंभ मेले के आयोजन पर 4200 करो रुपए की राशि नहीं खर्च करनी चाहिए!

कांग्रेस नेता उदित राज ने अपने ट्वीट के अंदर कहा कि किसी भी धार्मिक कार्यक्रम में सरकारी फंड का इस्तेमाल नहीं होना चाहिए यह गलत है! उनके इस ट्वीट के बाद बढ़ते हुए मामले को देख उदित राज ने अपने ट्वीट को डिलीट कर दिया! बाद में उन्होंने सफाई देते हुए कहा कि राज्य का कोई धर्म नहीं होता! सभी को बराबर मानना चाहिए! किसी के साथ भेदभाव नहीं होना चाहिए!

वहीं दूसरी ओर उदित राज के बयान की बीजेपी और हिंदू धर्म के आचार्यों ने निंदा की है! बीजेपी ने इसे हिंदू आस्था पर चोट पहुंचाने वाला बयान बताया! वहीं दूसरी ओर वरिष्ठ पत्रकार राजगोपालन ने कहा है कि उदित राज पहले बीजेपी के सांसद रह चुके हैं! उन्होंने यह भी कहा कि क्या वह बीजेपी के दिनों को भूल गए हैं उन्हें इस तरह का बयान देने से पहले सोचना चाहिए लगता है कि वह अपना संतुलन खो चुके!

वही हिंदू धर्म के जाने-माने आचार्य कहना है कि कांग्रेस नेता को यह समझना चाहिए तुम केवल धार्मिक कार्यक्रम नहीं है यह एक सांस्कृतिक परंपरा है! यह परंपरा लाखों वर्षों से चलती आ रही है परंपरा और धार्मिक कार्यक्रम में अंतर होता है असम की सरकार ने मदरसों को बंद किए जाने की तुलना उनसे नहीं की जा सकती! वहीं इसी मामले पर इस्लामिक विद्वान अतीक उर रहमान का कहना है कि वह उदित राज की बात से सहमत नहीं है!