अकेले भारत से Apple iphone ने कमा लिए इतने अरब रु मुँह ताकता रह गया Samsung और बाकी कंपनियां

पहली बार Apple ने भारत में कमाई के मामले में Samsung, Xiaomi, Vivo जैसे ब्रांड्स को पीछे छोड़ दिया है। इतना ही नहीं, कंपनी ने पहली बार एक कैलेंडर साल में भारत में 10 मिलियन यानी 1 करोड़ से ज्यादा आईफोन बेचे हैं। रिसर्च फर्म काउंटरप्वाइंट ने अपनी ताजा रिपोर्ट में यह खुलासा किया है। हालांकि, मार्केट शेयर के मामले में अभी भी Samsung, Xiaomi, Vivo जैसे ब्रांड्स का दबदबा है।

काउंटरप्वाइंट की रिपोर्ट के मुताबिक, Apple ने रिकॉर्ड शिपमेंट कर भारत में 7 फीसदी मार्केट शेयर पर कब्जा कर लिया है. कंपनी ने त्योहारी सीजन के दौरान iPhone 14 और iPhone 13 पर भारी छूट की पेशकश की थी, जिसके चलते कंपनी ने साल की चौथी तिमाही में अच्छी ग्रोथ दर्ज की है। Apple ने पिछले साल भारत में अपना पहला ऑफलाइन रिटेल स्टोर खोला था। कंपनी के सीईओ टिम कुक दिल्ली और मुंबई के एप्पल स्टोर्स का उद्घाटन करने भारत आए थे.

Top 5 Smartphone Brands

पिछले साल भारत में स्मार्टफोन की कुल शिपमेंट 152 मिलियन यूनिट रही। वहीं, 5G स्मार्टफोन शिपमेंट में भी भारी उछाल आया है। स्मार्टफोन ब्रांडों ने 2023 में 5G शिपमेंट में साल-दर-साल 52 प्रतिशत की वृद्धि दर्ज की है।

  1. भारतीय स्मार्टफोन बाजार में हिस्सेदारी की बात करें तो सैमसंग की हिस्सेदारी 18 प्रतिशत थी, जो 2022 में 19.4 प्रतिशत से कम है। हालांकि, अन्य ब्रांडों की तुलना में सैमसंग की बाजार हिस्सेदारी सबसे ज्यादा है।
  2. वीवो 17 प्रतिशत मार्केट शेयर के साथ दूसरे स्थान पर है। कंपनी ने 2022 के मुकाबले अच्छी ग्रोथ दर्ज की है. 2022 में वीवो की बाजार हिस्सेदारी 15.8 फीसदी है.
  3. Xiaomi ने पिछले साल 16.5 प्रतिशत हिस्सेदारी के साथ तीसरा स्थान हासिल किया था। 2022 में कंपनी की बाजार हिस्सेदारी 20.3 फीसदी थी.
  4. Realme ने 12 प्रतिशत मार्केट शेयर के साथ चौथा स्थान हासिल किया है। 2022 में कंपनी ने जबरदस्त ग्रोथ दिखाई और 13.7 फीसदी मार्केट शेयर पर कब्जा कर लिया.
  5. Oppo की बाजार हिस्सेदारी 10.5 फीसदी रही है, जो 2022 के 10.4 फीसदी से ज्यादा है.

साल-दर-साल ग्रोथ पर नजर डालें तो गूगल ने 2023 में 111 फीसदी की ग्रोथ दर्ज की है। वहीं, लावा ने 36 फीसदी, वनप्लस ने 33 फीसदी और मोटोरोला ने 13 फीसदी की ग्रोथ दर्ज की है। प्रीमियम स्मार्टफोन सेगमेंट में साल-दर-साल 64 फीसदी की बढ़ोतरी हुई है।