Paytm के बाद इस बैंक पर लगा ग्रहण! डूबने के कगार पर पहुंच गई ये बैंक..

US Banking Crisis: इधर पेटीएम को लेकर खबरें सामने आ रही है तो उधर अमेरिका में एक बार फिर से बैंकिंग संकट सामने आ गया है दरअसल 11 महीने पहले ही देश के कई बैंक भी डूब गए थे जिसके अंदर सिग्नेचर बैंक भी शामिल था वही इस बैंक को खरीदने वाला न्यूयॉर्क कम्युनिटी बैंक डूबने की कगार तक पहुंच गया. ऐसे में मूडीज ने एक बैंक की क्रेडिट रेटिंग डाउनलोड कर दी.

इसका नतीजा यह हुआ कि गुरुवार को कंपनी के शेयर में 31% तक की गिरावट आ गई वहीं पिछले एक महीने में कीमत में 70% की गिरावट देखी गई है ऐसे में 1 जनवरी के बाद इसका मार्केट कैप 7 अरब डॉलर से अधिक तक गिर गया और साल 1997 के बाद यह है बैंक का सबसे निचला स्तर है. अच्छी बात तो यह है कि 60% असेट्स एफडीसी इंश्योरेंस से कवर्ड है वहीं सिलिकॉन वैली बैंक के मामले में भी 10% था.

US Banking Crisis: लिक्विडिटी का सामना कर रहा बैंक

न्यूयॉर्क कम्युनिटी बैंक ने पिछले ही हफ्ते हैरान कर देने वाली घोषणा की उनका कहना था कि कमर्शियल रियल एस्टेट मार्केट में उन्हें घाटा हुआ है. वही मूडीज का भी कहना है कि बैंक कई प्रकार की चुनौतियों से जूझ रहा है और उसके लिए कर्ज का भुगतान कर पाना मुश्किल हो सकता है. वही कंपनी को लिक्विडिटी का सामना करना भी पड़ रहा है ऐसे में बैंक का एक तिहाई डिपॉजिट इंश्योरेंस के दायरे में ही नहीं है.

वही ऐसे में अगर डिपॉजिट करता का भरोसा भी डगमगा जाता है तो बैंक की फंडिंग और लिक्विडिटी का दबाव झेलना ही पड़ता है. वही बैंक का ट्रेजेडी सिक्योरिटी जनरेट एलेन ने भी इस मामले पर बयान दिया है. उनका कहना है कि सरकार का बैंकिंग संकट पर पूरी तरीके से नजर हैं और रेगुलेटर रियल एस्टेट लोन के जोखिम को मैनेज करने के लिए कार्य किया जा रहा है.