“इमरान” नाम का दिल्ली पुलिस का कॉन्स्टेबल, जमाति को बचाने के लिए कर रहा था ये काम…

0
19133

दिल्ली पुलिस ने इमरान नाम के एक कांस्टेबल को निलंबित कर दिया है। कांस्टेबल पर तबलीगी जमात में सीमा पार करने का आरोप है। कांस्टेबल पर अपनी वर्दी ड्यूटी खत्म करने के बाद अपनी कार में तबलीगी जमात के लोगों को दिल्ली से उत्तर प्रदेश ले जाने का आरोप है। दरअसल, इमरान दिल्ली पुलिस की सुरक्षा इकाई में तैनात हैं। आरोप है कि तबलीगी जमात के कुछ लोगों द्वारा गुरुवार को इमरान अपनी कार से अवैध रूप से दिल्ली की सीमा पार कर रहे थे, जब गाजियाबाद पुलिस ने इमरान के वाहन को रोका और पूछताछ के बाद उन्हें हिरासत में ले लिया।

दिल्ली पुलिस को इस घटना के बारे में सूचित किया गया था, जिसके बाद लोनी के निवासी इमरान को निलंबित कर दिया गया है और मामले में जांच शुरू कर दी गई है। पुलिस अब यह पता लगाने की कोशिश कर रही है कि जमात के लोग इमरान के संपर्क में कैसे आए और अब तक इमरान दिल्ली की सीमा पार कर चुके हैं। इमरान फिलहाल अलगाव में हैं और वे सभी लोग जो इमरान की कार में मौजूद थे। वहीं, नियमों के उल्लंघन में भीड़ जुटाने के आरोपी मौलाना साद का बयान तब्लीगी जमात में आया। मौलाना साद ने क्राइम ब्रांच के नोटिस का जवाब दिया है। उसने उत्तर दिया कि वह स्व क्वारेंटाइन में है।

बता दें कि क्राइम ब्रांच ने मौलाना साद से 26 सवाल पूछे थे। मौलाना साद ने इन सवालों के जवाब भेजे हैं। मौलाना साद ने कहा है कि वह इस समय स्व-संगरोध में है और मार्क अभी भी बंद है। इसलिए जब मरकज खुलता है, तो वह शेष सवालों का जवाब देगा। आपको बता दें कि दिल्ली पुलिस ने मार्च में मार्काज़ में हुए कार्यक्रम में जुटी भीड़ से निकले शवों के लिए मौलाना साद समेत 6 लोगों के खिलाफ मुकदमा दर्ज किया है। हालांकि, मौलाना साद अभी भी फरार है। गिरफ्तारी का प्रयास किया जा रहा है।