Thursday, December 8, 2022

75वां वार्षिक निरंकारी संत समागम में 5 लाख से ज्‍यादा अनुयायी हुए शामिल! रहना-खाना सब कुछ है फ्री

संत निरंकारी मिशन के 75वें वार्षिक निरंकारी संत समागम का बीते गुरुवार को भव्य शुभारंभ किया गया था। निरंकारी संत समागम का विधिवत शुभारंभ करते हुए सदगुरु माता सुदीक्षा ने मानवता के नाम संदेश देते हुए कहा कि रूहानियत और इंसानियत से ही हम पूर्ण इंसान बन सकते हैं। समागम के दूसरे दिन सात लाख से अधिक निरंकारी मिशन के अनुयायी शामिल हुए। समागम स्थल पर साध संगत की ओर से भक्तजनों ने माता सुदीक्षा व राजपिता रमित को गुलदस्ते भेंट कर स्वागत किया।

75th Annual Nirankari Sant Samagam
630 एकड़ क्षेत्र में रह रहे हैं करीब 5 लाख लोग!

समालखा के भोड़वाल माजरी स्थित आध्यात्मिक स्थल पर चल रहे 75वें संत निरंकारी समागम में श्रद्धालुओं की भीड़ दिन प्रतिदिन बढ़ती जा रही है। मिशन का दावा है कि हाल में पांच लाख से ज्यादा श्रद्धालु पहुंच चुके हैं। मिशन से जुड़े युवा व बुजुर्ग से लेकर नेत्रहीन व दिव्यांगों तक को आस्था सैंकड़ों किलोमीटर दूर से खींच ला रही है। करीब 630 एकड़ क्षेत्र में हो रहे समागम में 24 घंटे चहल पहल है। मानों कोई नगरी बसी हो। वहीं आज और कल श्रद्धालुओं की संख्या और बढ़ेगी। माना जा रहा है कि करीब 250 किलोमीटर के दायरे में रहने वाले श्रद्धालु छुट्टी के चलते इन दिनों में आकर समागम में शामिल होंगे। ऐसे में समागम में श्रद्धालुओं की भीड़ का आंकड़ा सात लाख के आस पास पहुंच सकता है।

Read More: UP News: अब बच्चे पढ़ेंगे A से अर्जुन, B से बलराम’! उत्तर प्रदेश के स्कूल की अनोखी पहल…

निरंकारी संत समागम
निरंकारी संत समागम में दिव्यांगों ने भी दर्ज कराई उपस्थिति!

देश के कोने कोने से दिव्यांग भी समागम में शामिल हो सतगुरु के दर्शन करने के लिए पहुंचे हैं। इनमें कोई पूरी तरह से नेत्रहीन है तो कोई चलने फिरने में असमर्थ है। लेकिन सतगुरू के प्रति उनकी आस्था उन्हें सैंकड़ों किलोमीटर से यहां तक खींच लाई है। पूछने पर कहते है कि क्या हुआ, आंखों में ही तो रोशनी नहीं हैं, लेकिन सतगुरू का दिल में जगाया उजाला तो है। वहीं पूर्व सैनिक भी ब्रह्मज्ञान लेकर समागम में अपनी सेवा दे रहे हैं।

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular