Monday, January 30, 2023

50 दलित परिवार ने छोड़ा गांव, जाने पूरा मामला…

50 दलित परिवार ने छोड़ा गांव, जाने पूरा मामला…: देश में ऐसे कई सारे मामले सामने आते रहे हैं जब देखा गया है कि कोई परिवार अपना घर बार छोड़ कहीं और जाकर रहने लग गया है! ठीक है ऐसा ही अब एक मामला झारखंड से सामने आ रहा है! दरअसल, खबर तो ऐसी सामने आ रही है कि झारखंड के पलामू जिले के 50 दलित अपना घर बार छोड़ कर जंगल में रहने के लिए मजबूर है! ऐसे में अब फिलहाल तो झारखंड पुलिस ने इन परिवारों को फिर से गांव में बसाने का आश्वासन दे दिया है!

दलित समाज के लोगों ने इल्जाम लगाया है कि उनके गांव से मुस्लिम समुदाय के लोगों ने मा रपीट करके भगा दिया। साथ ही इल्जाम लगाया कि मुस्लिम समुदाय ने उनके घरों को तो’ड़ दिया। उनका सामान जब रन छतरपुर के पास एक जंगल में ले जाया गया। और अब वे लोग जंगल में रहने को मजबूर है।

बता दे की पी ड़ित लोग मुसहर जाति से संबंध रखते हैं। ये लोग पिछले चार दशक से झारखण्ड (Jharkhand) के इस गांव में रह रहे थे। पी ड़ितों में शामिल जितेंद्र मुसहर नेबताया की – “हम कई सालों से एक साथ गांव में रह रहे हैं, लेकिन सोमवार को लोगों ने हमारे घरों पर धावा बोला और जब रदस्ती गांव से बाहर निकाल दिया। वे सभी मरुमातू गांव के रहने वाले हैं। उन्होंने हमारे सामान गाड़ियों में लादा और पास के जंगल में हमें छोड़ दिया।”

घट ना की सूचना मिलने पर मेदिनीनगर के SDO और SDPO मरुमातू गांव से एक किलोमीटर दूर टोंगरी पहाड़ी इलाके में पहुंचे। पुलिस के अनुसार इस घटना के संबंध में 12 लोगों के खिलाफ नामजद और 150 अज्ञात लोगों के खिलाफ फौजदारी का मामला दर्ज किया गया है। इस बीच घट ना का संज्ञान लेते हुए झारखंड (Jharkhand) के राज्यपाल रमेश बैस ने घट ना पर चिंता प्रकट किया। साथ ही अफसरों को पूरे मामले की रिपोर्ट सौंपने का आदेश भी दिया।

Also Read: ईदगाह मैदान में विराजेंगे गजानन! HC ने पलटा सुप्रीम कोर्ट का फैसला

इसके साथ ही राज भवन की ओर से जारी बयान के अनुसार राज्यपाल (Governor) ने पलामू के उपायुक्त ए दोड्डे से दो दिनों में रिपोर्ट सौंपने का आदेश दिया है। वहीं उपायुक्त ने बताया कि पुलिस (Police) को तत्काल दो षियों को पकड़ने को कहा गया है। उन्होंने सभी 50 परिवारों का प्राथमिकता के आधार पर इसी गांव में पुनर्वास कराने का आश्वासन भी दिया। उन्होंने बताया कि राहत एजेंसियां इस काम के लिए सक्रिय हो गयी हैं।

HumLog
HumLoghttp://humlog.co.in/
HumLog.co.in समाचारों व विचारों का ऐसा पोर्टल, जो आप तक उन ख़बरों को लाता है, जिन्हें भारत की मेनस्ट्रीम मीडिया अक्सर दबा देती है या नजरअंदाज करती है.
RELATED ARTICLES

Most Popular